केश तेल व ब्रिलियण्टाइन और वेव लोशन (HAIR OILS, BRILLIANT S & WEAVE LOTION] कैसे बनाएं PART-2

                           

केश तेल व ब्रिलियण्टाइन और वेव लोशन कैसे बनाएं PART-1  YAHAN PADHEN..

हर्बल​ मेडिकेटेड आयल (herbal medicated oil)--


गंज रोकने और रूसी (dendruff) समाप्त करने में समर्थ यह तेल अत्यंत ठंडक और ताजगी प्रदायक तो है ही, स्मरण शक्ति बढ़ाने में भी सहायक है। सभी रसों को तेल में डालकर पानी उडने तक पकाया जाएगा और ठण्डा हों जाने पर छानकर तरल कपूर और मनपसंद रंग तथा सुगंध आप मिलाएंगे।
धुली तिल्ली का रिफाइंड तेल-------३ kg
नारियल ह का शुद्ध तेल---------४ kg
ताजा आंवले का रस--------५००ml
ब्राह्मी बूटी की पत्तियों का रस----500ml
बेल की पत्तियों का रस-----500ml
माके की पत्तियों का रस-----400ml
पांचू की पत्तियों का रस----250ml
नीम की पत्तियों का रस------600ml
तुलसी की पत्तियों का रस------300ml
कपूर अथवा कैम्फर आयल------100ml
रंग सुगंध------ इच्छा नुसार

सूखे रचकों से निर्मित मेडिकेटेड आयल--

आप पानी में इनका अर्क निकाल कर प्रयोग करेंगे। यहां तक कि आप इन दोनों फार्मूलों को मिला कर अर्थात कुछ वस्तुओं का रस और कुछ का अर्क निकाल कर भी यह तेल तैयार कर सकते हैं।
नारियल का शुद्ध तेल-----5kg
धुले तिल का रिफाइंड तेल--------5kg
सूखे आंवले------1kg
ब्राह्मी की सूखी पत्तियां-------500 ग्राम
माके की सूखी पत्तियां-------400 ग्राम
बेल की सूखी पत्तियां-----400 ग्राम
नीम की सूखी पत्तियां------500 ग्राम
पांचू की सूखी पत्तियां-------200 ग्राम
तुलसी की सूखी पत्तियां--------200 ग्राम
तरल कपूर (कैम्फर आयल)-------100ml
रंग एवं सुगंध--------- इच्छा नुसार

हर्बल ब्राह्मी आंवला तेल

इस फार्मूले के अन्तिम चारों रचक तो तैयार तेल में अन्त में मिलाए जाएंगे, शेष रचकों का सत्व निकाल कर पकाना भी अनिवार्य नहीं। सभी जड़ी-बूटियां को दरदरा कूट कर और तेल में डालकर रख देते हैं । प्रति दिन
दो तीन बार किसी डण्डे से इसे हिलाते चलाते रहते हैं । गर्मियों में दो सप्ताह में और जाड़े में एक से डेढ़ महीने में इनके सत्व तेल में उतर आते हैं ।अत: तेल को छानकर और अंतिम चारों रचक मिला कर इसे पैक कर लेते हैं। 
तिल का रिफाइंड तेल--------20kg
सूखे आंवले--------1.5kg
ब्राह्मी बूटी---------1kg
असली चन्दन काम बुरादा---------500 ग्राम
जटामांसी---------200 ग्राम
पानडीं-----------200 ग्राम
कपूर कचरी-----200 ग्राम
नागर मोथा------200 ग्राम
आयल मैंथाप्रिपरेटा -------100 ग्राम
मेंथोल-----------40 ग्राम

बड़े स्तर पर तेलों का निर्माण करते समय पुशपुल टाइप एजीटेटर एक अतिरिक्त सुविधा प्रदान करता है , जबकि ब्रिलिएंटाइने बनाने के लिए एक अनिवार्य उपकरण है.। आधे या चौथाई हार्स पावर की विद्युत मोटर अथवा बिजली के बर्मे(electric drill) में लम्बी राड और उस राड में टेबल फैन की पंखुड़ियों के कुछ सेट लगाकर यह एजीटेटर आप स्वयं तैयार करवा सकते हैं। जहां तक साइफन का प्रश्न है वह तो रबर के सामान्य पाइप का एक टुकड़ा ही होता है। जिस पात्र से तरल निकालना होता है उसमें पाइप का एक सिरा द्रव्य में कुछ गहराई में डालकर और दूसरे सिरे को मुंह में डालकर वायु अंदर खींचते हैं, द्रव्य मुंह तक आते ही इस सिरे को खाली पात्र के अंदर रख देते हैं और द्रव्य स्वयं दूसरे पात्र में आता रहता है।

हेयर क्रीम या ब्रिलियंटाइन(Brilliantine)-----

बालों में लगाई जाने वाली ब्रिलिएंटाइने अथवा हेयर क्रीम वास्तव में क्रीम नहीं, तेलों का इमल्सन है,जो तेल में दो से तीन गुना चूने का पानी मिलाकर तैयार की जाती है। क्रीम के समान चौड़ी शीशियों में डालकर यह ऊंची दर पर बिकता है जबकि इनकी लागत मूल्य सामान्य हेयर आयल से भी कम होता है। शुद्ध बादाम के तेल से सर्वश्रेष्ठ ब्रिलियंटाइन तैयार होती है, परंतु अब तो डेढ़ गुनी मात्रा में रिफाइंड अरण्डी के तेल का प्रयोग करके भी इन्हें बना लिया जाता है। इसमें आप बादाम के तेल की मात्रा जितनी कम करें,उसका डेढ़ गुना अरण्डी का रिफाइंड तेल मिला लें---
बादाम का तेल (Almond Oil)------1kg
ग्लिसरीन (Glycerin)------500 ग्राम
गुलाब जल----------1 लीटर
चूने का पानी--------2 लीटर
टिंचर आफ सेनेगल--------75ml
बर्गामोट आयल (Bergamot Oil)-------8ml
लेमन आयल(lemon oil)-------15ml
तीन​ किलो ग्राम चूने अर्थात अच्छे क्वालिटी की सफेदी को दस लीटर पानी में डालकर रख देते हैं, और दो तीन बार हिला दिया जाता है । कुछ घंटों बाद स्वच्छ जल ऊपर तैरने लगता है, यही​चूने का पानी है। बादाम के तेल और इस पानी को पुशपुल टाइप एजीटेटर  अथवा अन्य किस हाई स्पीड मिक्सर में डालकर दूधिया रंग का पतला इमल्सन बनने तक तीव्र गति से घोंटते हैं। इसमें गुलाब जल और ग्लिसरीन डालकर प्रयाप्त गाढ़ा होने तक घोंटने के बाद अन्त में सुगंध मिश्रण के रूप में प्रयोग किए जा रहे दोनों तेल और टिंचर मिला कर एक बार फिर घोंटने के बाद चौड़े मुंह की पचास और सौ मिली लीटर शीशियों में पैक कर दिया जाता है।

हेयर वेव लोशन (Hair wave lotion)-------


बालों को छल्ले दार बनाने अथवा किसी विशिष्ट स्टाइल में सेट करने के लिए हेयर वेव लोशन का प्रयोग किया जाता है। इनमें कोई तेल तो होता ही नहीं । पानी में थोड़ा सा गोंद घोल कर इन्हें तैयार किया जाता है। गम कराया, अरब से आने वाले​ गोंद अथवा स्वच्छ बबूल के गोंद के​स्थान पर क्विन्स सीड (quince seed) का प्रयोग अधिक अच्छे परिणाम देता है। इनमें सर्वश्रेष्ठ तो पर्सीया से आने वाले क्विन्स सीड और संरक्षक पदार्थ के रूप में मिथाइल का प्रयोग रहता है तो सामान्य पानी के स्थान पर यूडी कालन वाटर या गुलाब जल का प्रयोग। 
यूडी कालन वाटर (Eaude cologne water)--5 लीटर
गुलाब जल----------5 लीटर
सामान्य पानी---------आधा लीटर पर्सियन क्वींस सीड----225 ग्राम
मिथाइल----------10 ग्राम
यूडी कालन वाटर और गुलाब जल का अनुपात कुछ भी रखा जा सकता है और सादा पानी का प्रयोग करके और बाद में सुगंध मिला कर भी आप इसे तैयार कर सकते हैं । पर्सियन क्वींस सीड तो प्रति लीटर लोशन बीस से बाइस ग्राम पर्याप्त रहते हैं, जबकि देशी होने पर पच्चीस से अट्ठाइस ग्राम । क्वींस सीड को दरदरा पीसने के बाद आधा लीटर सादा पानी उबाल कर उसमें डाल देते हैं और पूरी तरह ठण्डा होने से पहले ही अच्छी तरह मसलने के बाद छानकर सभी वस्तुओं को एक जगह मिला लिया जाता है।

हेयर​ आयल्स, ब्रिलियंटाइन्स और वेव लोशनों में प्रायः किसी एक फूल के स्थान पर फूलों की मिली-जुली, गर्म मसालों की मिश्रित अथवा आंवले की कृत्रिम सुगंधों का प्रयोग किया जाता है। कई सुगंधों को मिला कर ये कृत्रिम सुगंधें तैयार की जाती हैं, और यही कारण है कि प्रत्येक निर्माता की सुगंध एक दूसरे से कुछ अलग होती है। जहां तक​ जड़ी-बूटियों से निर्मित केश तेलों का प्रश्न है, यह जरूरी नहीं कि आप उपरोक्त फार्मूलों में दी गई सभी जड़ी-बूटियों और पत्तियों का प्रयोग करें। केवल आंवले और ब्राह्मी बूटी का प्रयोग करके ब्राह्मी आंवला हर्बल केयर आयल तैयार किया जा सकता है तो भृंगराज के पत्ते का रस और आंवले के फलों का रस या अर्क के मिश्रण को तेल में पकाकर बालों को काला बनाने वाला महाभृंगराज केश काला तेल तैयार किया जाता है ।

Share To:

Bajrangilal

Post A Comment:

0 comments so far,add yours