परफ्यूम का व्यापार कैसे शुरू करें | How To Start Perfume ...
             

             

केमिकल से निर्मित कृत्रिम परफ्यूम्स का निर्माण एक ऐसा अद्भुत उद्योग है जिसमें लाखों रुपए प्रतिमाह का उत्पादन करने पर भी कोई मशीन या किसी विशिष्ट उपकरण की जरूरत नहीं पड़ती।बड़े पैमाने पर उत्पादन और वितरण करते समय भी एक बोतल फिलिंग तथा एक पिल्फर प्रूफ कैप सीलिंग मशीन ही पर्याप्त रहती है। आधे लीटर की बोतलों को सुंदर रूप देने के लिए आप उनपर कैप्सूल सीलिंग मशीन से एलुमिनियम फाइल निर्मित गिलास जैसे कैप्सूल भी चढ़ा सकते हैं। 10,000 से भी कम में आ जाती है यह तीनों मशीनें। छोटी शीशियों पर कार्क लगाकर उसे मोम से या एयर टाइट करने के बाद प्लास्टिक का चूड़ीदार ढक्कन लगाकर कागज की पट्टी सील के रूप में लगा दी जाती है। अतः आप चाहते हुए भी किसी मशीन का प्रयोग इस उद्योग में नहीं कर सकते। इन्हें कांच की साधारण शीशियो  में पैक किया जाता है। और मात्र एक लेबल सीसी पर लगाया जाता है। अतः पैकिंग मैटेरियल की खरीद पर नग्न खर्च होता है। अतः इस उद्योग में आपका जो भी धन लगता है वह मात्र कच्चे माल के रूप में इस्तेमाल किए जाने वाले केमिकल्स पर लगता है और दो-तीन माह के लिए कार्यकारी पूंजी होने पर कम से कम 25% शुद्ध लाभ के साथ आप इसका व्यवसाय सफलतापूर्वक कर सकते हैं।

कच्चा माल और निर्माण प्रक्रिया main chemicals


एक कमरा और उसमें एक छोटी अलमारी आवश्यकतानुसार कांच के जार और बोतलें , खरल छोटी तराजू बाट तथा तरल नापने के कुछ बीकर और मेजरिंग ग्लास ही इस उद्योग का संपूर्ण प्लांट है। किसी सामान्य मिक्सर अथवा ग्राइंडर तक का प्रयोग आप इसमें नहीं कर सकते। अधिकांश सुगंध मिश्रण तैयार करते समय सामान्य गंध रहित अल्कोहल अथवा निरगंध स्प्रिट का प्रयोग आधार रक्षक के रूप में किया जाता है। हल्की या मंद सुगंध के रूप में इन्हें तैयार करते समय ही अल्कोहल ,स्प्रिट , डाई इथाइल जैसे गंद हीन रसायनों का प्रयोग आवश्यकता अनुसार करते हैं। अन्य सभी सुगंध प्रदायक रसायनों में जो तरल होते हैं उन्हें तो नाप नाप कर एक शीशी या जार में डालते हैं और दानेदार रसायनों को तोलने के बाद खरल में थोड़े अल्कोहल के साथ घोटकर मिश्रण में मिलाते हैं। बोतल या जार में इस मिश्रण को कम से कम दो-तीन हफ्ते पड़ा रहने देते हैं जिससे सभी रसायनों की सुगंध में परस्पर क्रिया प्रतिक्रिया करके वांछित सुगंध का रूप ले ले। मिश्रण को प्रतिदिन तीन चार बार हिलाना और ढक्कन सदैव एयरटाइट बंद रखना अनिवार्य होता है। सभी रसायनों का घनत्व अलग अलग होने के कारण वे प्रारंभ में अलग-अलग सतहों के रूप में एकत्रित होते हैं और यही कारण है कि उन्हें प्रतिदिन तीन चार बार हिलाना चलाना पड़ता है। एक जार का मिश्रण दूसरे के संपर्क में आने पर वे दुर्गंध का रूप ले सकते हैं इसीलिये इन्हें हिलाने के लिए कांच या stainless-steel की चिकनी क्षण का प्रयोग करते हैं। और प्रत्येक पात्र में डालने से पूर्व भली प्रकार पोंछ भी लेते हैं।

परफ्यूम का व्यापार कैसे शुरू करें | How To Start Perfume BUSSINESS PART-2


Share To:

Bajrangilal

Post A Comment:

0 comments so far,add yours