Snow Creams aur Skin Tonics KAISE BANAYEN [ poori jankari ] IN HINDI


Chehre aur khule sharir par laganewali Creams,snow ,Skin moisturizer,beautymilk aadi taralta aur chiknai ki Aadhar par Kai vargon me vibhajit hai.vainesing Creams ya snow chehre par chiknai nahi chhodti aur adhik malne par chehre ke rom chhidron me chhipe mail Ko bhi bahar nikal deti hai.eske bajay cold cream pryapt chikni Hoti hai, aur isiliye jadho me nittya hi lagai jati hai.firbhi in dono ki banane ki vidhi samaan hi hai tatha sabhi farmule bhi saman hi Hoti hai,bas kastiq potash aur kastiq sode ki matra me hi Thora antar hota hai.patle skin Tonics aur Beauty milk bhi vastav me cold cream hi hain,bas isme paani thora jyada prayog hota hai.inke kai sare Swaroop hain, jisme prateek ki bikiri bhi khoob Hoti hai.inme nirmand se lekar bikri tak atyadhik laabh hone ke baad bhi adhik competition nahin hai.50 thousend se lekar 1lacs ₹ tak ke poonji nivesh se iska nirmand kiya ja sakta hai.is udyog me Sabse jyada poonji packing material tayar karane me kharch hota hai.uske baad kachche maal ke khareed me, machino me to naam mat byra ki lagat aati hai jo kul poonji ka 5 pracent bhi nahi hota.

Raw material (Aadhar bhoot rachak)+++

Tel aur sabun ke madhya ki vastuven hain ye sabhi tarah ki cream aur Skin Tonics. tel ki tarah inme chiknai Hoti Hain,to sabun ki tarah hi chhar bhi.prantu tel ke samaan chiknai aur sabun ki tarah kathor tatha adhik chhar yukt aur nahi hote ye utpad.in sabhi me aadha se teen chauthai tak Paani hati hai aur baki sabun ke roop mein parivartit tatha thodi chiknai. Parantu Inke nirmand me samanya telon,charbi aur kastiq sode ka prayog nahi kiya jata.aadharbhoot chiknai ke roop me lagbhag sabhi Creams me rang aur gandh udakar sukhe kekon ke roop me taiyar ki gai parishkrit charbi ka prayog hota hai.yah charbi stiyarik asid kahlati hai.suar ki saaf charbi lord kahlati hai aur bahut adhik chikni Creams me 20_30 parcent tak iska bhi prayog hota hai.sasti Creams me chiknai ke roop me saaf charbi aur nariyal ke tel ka aur bahut achhe skin Tonics me badam ke Tel ka bhi prayog kiya jata hai.waise inki upyogita sahayak rachak ke roop me hi hai.in sab ka mukhya rachak to samanya ya tripal presd stiyarik asid hi hai.
Komalta,fusfusa hone ke karan bhar me halka hona aur snigdhta in upadano ka sabse bada gun hai aur yahi karan hai ki chhar ke roop me costiq sode ka prayog nahi kiya ja sakta.costiq sode ka prayog kare par cream bahut adhik sakht banti hai.isiliye adhikansh Creams me potassium hydroxide ka prayog kiya jata hai chhar ke roop me tri-ethenolamine ke prayog kare par achchhi cream taiyar hoti hai atah skin Tonics me mukhya aur achchhi Creams me sahayak chhar ke roop me iska prayog kiya jata hai.linkar ammonium forte ek bahut hi achchha chhar hai, parantu kafi mahnga hai.1kg istiuriq asid ko sabunikrit karne ke liye lagbhag 350g potassium carbonate athwa 280g costiq potas ki jarurat padti hai.
Isi karya hetu linkar ammonia forte 250g prayapt hai, isme triethanolamine 750 g डाला जाता है. यह मात्राएं स्टेयरिक एसिड का पूर्ण साबुन बनाने के लिए है इन रसायनों का 10 से 20% तक कम मात्रा में प्रयोग किया जाता है क्योंकि इन सौंदर्य प्रसाधन ओं में चिकनाई का 10 से 20% तक भाग स्वतंत्र Vasa ke रूप में रखा जाता है. कई निर्माता किसी ek chhar के स्थान पर दो या अधिक chharon ko विभिन्न अनुपात में मिलाकर प्रयोग करते हैं.

Vishisht good vardhak rachak(builders)

हर्बल रंग निखारने वाली पचा पोशाक झाइयां और झुर्रियां विनाशक क्लींजिंग और क्लीनिंग आदि अनेक विशेषण ओं के साथ क्रीम का विज्ञापन और वितरण किया जाता है बादाम का तेल एक बहुत अच्छा गुड वर्धक ट्रक है परंतु शायद ही कोई निर्माता इसका प्रयोग करता हो इसके स्थान पर त्वचा को फटने से बचाने और फटी त्वचा को जोड़ने का उत्पन्न करने के लिए कुछ कोल्ड क्रीम और अधिकांश स्क्रीन टच में ग्लिसरीन मिलाई जाती है तैयार क्रीम में मात्र 2% जिंक ऑक्साइड मिलाने पर वह चमकदार सफेद तो बन ही जाती है लगाने के बाद चेहरा भी अधिक गोरा दृष्टिगोचर होता है स्वतंत्र होने के कारण यह सभी उपादान बहुत जल्द करने लगते हैं सड़न रोकने और जीवाणु नाशक क्षमता उत्पन्न करने के लिए प्रति किलोग्राम तैयारी में 2 ग्राम में 5 + नामक रसायन मिलाया जाता है दिल्ली में केमिकल इंडस्ट्रीज के इस विशिष्ट को अल्कोहल में आते हैं millet Hai आज कास्मेटिक में हर्बल अर्थात जड़ी बूटियों से निर्मित का भारी क्रेज है परंतु वास्तव में फिल्मों के निर्माण में जड़ी-बूटियों और उनके आंखों का अधिक प्रयोग संभव नहीं सड़न रोकने के लिए मिर्जापुर या अन्य किसी रसायन के स्थान पर सुहागे अथवा बोरिक एसिड का पर्याप्त मात्रा में प्रयोग करके ही कुछ निर्माता इन हर्बल का नाम दे रहे हैं वैसे सुहागा त्वचा के जीवाणु का विनाश कर के उसे स्वस्थ बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है जिसखाना पूर्ति के लिए कुछ निर्माता फेस पाउडर के केक ओं में वाइल्डर के रूप में प्रयोग किए जाने वाले क्वीन सीड के गुण हल्दी चंदन के तेल की चंद बूंदें तुलसी की पत्तियों का रस आदि नाम मात्र के लिए मिलाकर भी हर्बल नाम दे रहे हैं खीरे के रस में रखने की पर्याप्त क्षमता होती है आता पानी के स्थान पर इस रस का जीवाणु नाशक के लिए तुलसी की पत्तियों और सुहागे और सुगंध के लिए शुद्ध चंदन के तेल की मिलावट वाली क्रीम ही वास्तव में हर्बल कहलाने के अधिकारी हैं परंतु शायद ही कोई निर्माता पर्याप्त मात्रा में इनका प्रयोग कर रहा हूं जहां तक वास्तविक हर्बल क्रीम का प्रश्न है वह तो चिकनाई युक्त विच हैज़ल हर्बल सिरोही होती है तू स्टेयरिक एसिड के साथ नाममात्र को कोई तेल और उपरोक्त में से एक अदरक मिलाकर ही साधारण क्रीम को हर्बल के नाम पर बेचने का फैशन चल रहा है

स्थान उपकरण व पूंजी निवेश प्लांट एंड इन्वेस्टमेंट

करोड़ों रुपए प्रति वर्ष की क्रीम सुनो स्किन टॉनिक और ब्यूटी मिल्क आदि बनाने वाले संस्थानों में भी ₹100000 से अधिक की मशीनें तथा उपकरण नहीं होते हैं. Kisi grinder yaadasht mixer tat ka prayog in ke Nirman me nahi hota.char panch hazar rupaye Malika mixer lagakar a quarter batli kar hi 50 kilo gram prati din tak ke sabhi Pradhan aasani se taiyar kiye ja sakte hain.इंग्लिश वीडियो में भरने के लिए हाथ से दबाया जाने वाला 4:00 ₹500 मूल्य के होमो राइजर का प्रयोग किया जाता है. प्लास्टिक की शिशुओं पर तो प्लास्टिक का तेजधार ढक्कन ही हाथ से लगा दिया जाता है कांच की शीशी ओं में पैक करते समय ही छपा हुआ पिलफर प्रूफ ढक्कन लगाया जाता है कि नहीं लगाने वाली मशीन भी डाइयो सहित ₹5000 में आ जाती है अधिक स्थान तो क्या विद्युत तक कि इस उद्योग में अनिवार्य आवश्यकता नहीं पर कार्यकारी पूंजी जितनी भी हो कम है वैसे प्रारंभ में कच्चे माल में से भी काफी अधिक लागत आती है पैकेजिंग मैटेरियल तैयार कराने पर क्योंकि प्रत्येक सीसी शानदार चिकने गत्ते के बहुरंगी डिब्बे में पैक करने के लिए आप विवश है

FOR PART-2 CLICK HERE

Share To:

Bajrangilal

Post A Comment:

0 comments so far,add yours